PMFBY प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: ऑनलाइन फॉर्म, Fasal Bima Yojana

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana in hindi | Apply Online Fasal Bima Yojana 2020 | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana | Fasal Bima Yojana Form Download | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन फॉर्म

अक्सर यह देखा जाता हैं कि प्राक्रतिक आपदा की वजह से किसानो की फसल बर्बाद हो जाती हैं. जिसकी वजह से किसानो का काफी नुकसान होता हैं. हालात यहाँ तक बन आते हैं कि बहुत से किसान तो आत्महत्या भी कर लेते हैं. किसानो की यही समस्या को देखते हुए भारत सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की हैं. इस योजना के अंतर्गत किसान को उनकी बर्बाद हुई फसल का बिमा दिया जायेगा. देश का कोई भी किसान (PMFBY) प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन दे सकता हैं.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020

PM Fasal Bima Yojana पुरे देश मे भारतीय कृषि बीमा कम्पनी (LIC) द्वारा चलायी जाएगी. PMFBY Yojana की मदद से जिस भी किसान की फसल बर्बाद हुई हैं उसके नुकसान की भरपाई सीधा उनके बैंक अकाउंट मे ट्रान्सफर कर दिया जायेगा. फसल बीमा योजना मे केंद्र सरकार ने 8800 करोड़ रुपए खर्च करने का प्लान किया हैं. इस पालिसी के अनुसार किसान खरीफ फसल के लिए 2% और रवि की फसल के लिए 1.5% का भुगतान करते हैं. जिसके अनुसार यदि बाड़ या ओले की वजह से फसल बर्बाद होती हैं तो सरकार द्वारा किसानो की मदद की जाएगी.

Crops & Premium In PMFBY Scheme 2020

क्र0स0फसलकिसान द्वारा देय बीमा राशि का प्रतिशत
1खरीफ2.0%
2रबी1.5%
3वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  गतिविधि कैलेंडर

गतिविधि कैलेंडरखरीफरबी
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण।अप्रैल से जुलाई तकअक्टूबर से दिसम्बर तक
किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।31 जुलाई31 दिसम्बर
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअतिंम फसल के एक महीने के भीतरअतिंम फसल के एक महीने के भीतर

Revised प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

प्रकारवर्ष 2016 के लियेवर्ष 2019 के लिये
किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशिरू 900रू 600
शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशिरू 15000रू 30000

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य किसान का फसल और खेती के प्रति रूचि बनाये रखना हैं. अक्सर यह देखा जाता हैं कि भरी नुक्सान के कारण किसान खेती करना छोड़ देते हैं. जिसकी वजह से देश को भी नुक्सान झेलना पड़ता हैं. इस योजना की मदद से किसान की फसल मे हुए नुकसान को बिमा द्वारा भुगतान दिया जायेगा. जिससे कि किसान चिंतामुक्त होकर खेती करे. और देश की प्रगति मे योगदान दे.

पीएम फसल बीमा योजना नई अपडेट

केंद्र सरकार ने पीएम फसल बीमा योजना के लिए एक नयी घोषणा की हैं. जिसमे खरीफ फसलों के लिए आवेदन करने के लिए 31 जुलाई 2020 कर दी है. वह सब किसान जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें अंतिम तिथि से पहले इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन देना होगा. यदि किसान किसान बिमा सुविधा नहीं लेना चाहते हैं तो उन्हें अंतिम तिथि से पहले लिखित मे अपने बैंक शाखा मे इसकी जानकारी देनी होगी. इस बात का अवश्य ध्यान रहे कि सरकार भुगतान तभी करेगी यदि आपकी फसल प्राकृतिक आपदा की वजह से ख़राब हुई हैं.

Highlights PMFBY Scheme 2020

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
विभागमिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
लाभार्थीदेश के किसान
ऑनलाइन आवेदन के आरंभ तिथिआरंभ है
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि31 जुलाई 2019(खरीफ फसल के लिए)
उद्देश्यदेश के किसानों को सशक्त बनाना
सहायता राशि₹200000 तक का बीमा
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

फसल बीमा योजना में अब तक जमा किया गया प्रीमियम

तोमर के ब्यान के अनुसार प्रीमियम की हिस्सेदारी मे कोई बदलाव नहीं आया हैं. यदि पिछले 3 सालो का रिकॉर्ड देखे तो करीब 13,000 करोड़ रुपये का प्रीमियम हुआ हैं. लेकिन प्राकृतिक आपदा के दौरान साढ़े 4 गुनी राशि करीब 64,000 करोड़ रुपये मुआवजा मिला. सरकार की पालिसी के अनुसार खरीफ की फसल के लिए 2 फिसद, और रबी की फसल के लिए 1.5 फिसद तय किया गया हैं इसी के साथ-साथ व्यावसायिक व बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद है।लॉकडाउन के दौरान इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये से अधिक के दावों का भुगतान किया गया है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की मदद से किसान की खराब हुई फसलों का नुक्सान का भुगतान किया जायेगा.
  • प्राकृतिक आपदा की वजह से खराब हुई फसल का नुक्सान सरकार द्वारा दिया जायेगा.
  • यदि फसल कोई मानव द्वारा खराब की जाती हैं तो इस योजना का लाभ लाभार्थी नहीं उठा पायेगा.
  • पालिसी के अनुसार किसान को रवि की फसल के लिए 1.5% और खरीफ की फसल के लिए 2% भुगतान किया जायेगा.

Fasal Bima Yojana की पात्रता

  • इस योजना के लिए देश का कोई भी किसान आवेदन दे सकता हैं.
  • यदि आपने किसी से जमीं उधार ली हुई हैं या खुद की जमीन हैं तो भी आप बिमा करवाने योग्य हैं.
  • केवल वही किसान इस योजना के लिए आवेदन दे सकते हैं जो पहले किसी बिमा योजना का लाभ नहीं उठा रहे हो.

PMFBY के ज़रूरी दस्तावेज़

  • किसान का आई डी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता
  • किसान का एड्रेस प्रूफ (जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ,पासपोट, वोटर ID कार्ड )
  • अगर खेत किराये पर लेकर खेती की गयी है तो खेत के मालिक के साथ इकरार की फोटो कॉपी
  • खेत का खाता नंबर /खसरा नंबर के पेपर
  • आवेदक का फोटो
  • किसान द्वारा फसल की वुआई शुरू किए हुए दिन की तारीख

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन ?

  • इच्छुक आवेदक को सबसे पहले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • वेबसाइट पर जाने के बाद अपना एक अकाउंट बनाये.

  • इसके लिए “रजिस्ट्रेशन” आप्शन पर जाये और वहन पर पूछी गयी सभी जानकारी सही ढंग से भरे.
  • इसके तुरंत बाद सबमिट बटन दबाये और आपका आकोउंत तैयार हैं.

  • अब बारी आती हैं अकाउंट लॉग इन करने की. लॉग इन करने के बाद फसल बीमा योजना के लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा.

  • सब जानकारी सही भरने के बाद फॉर्म को सबमिट करे. इसकी लेटेस्ट अपडेट आप अपने मोबाइल नंबर पर समय-समय पर ले सकते हैं.

फसल बीमा योजना आवेदन की स्थिति कैसे देखे ?

  • स्तिथि देखने के लिए सबसे पहले आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • उसके बाद “एप्लीकेशन स्टेटस” आप्शन पर क्लिक करे. आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल कर आयगा.
  • यहाँ पर रिसीप्ट नंबर और captcha भरे और सर्च स्टेटस बटन पर क्लिक करे.
  • जैसे ही आप ऊपर बताये गए बटन पर क्लिक करेंगे. आपके सामने पुरे फॉर्म की स्तिथि आ जाएगी.

इन्शुरन्स प्रीमियम कैलकुलेट कैसे करे ?

  • आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा. जहाँ पर आपसे कुछ मुक्य जानकारी पूछी जाएगी. इस जानकारी को सही भरे.
  • जानकारी भरने के बाद कैलकुलेट बटन दबाएँ. यहाँ पर आप अपना प्रीमियम कैलकुलेट कर सकते हैं.

शिकायत दर्ज कैसे करे?

  • यदि आपको शिकयत दर्ज करनी हैं तो इसके लिए पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाये.

  • होम पेज से “Technical Grievance क ऑप्शन दबाये.
  • आप्शन को दबाते ही एक नए पेज पर आपसे आपका मोबाइल नंबर, ईमेल ID आदि पूछी जाएगी.
  • सभी जानकारी भरने के बाद अपनी शिकायत दर्ज करे और सबमिट बटन को दबा दे.
  • आपकी शिकयत दर्ज हो जाएगी.

प्रधानमंत्री हेल्पलाइन नंबर

इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है अगर किसी किसान को इस योजना के जुडी कोई परेशानी है है तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी परेशानी का निवारण प्राप्त कर सकते है और इस योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है ।
योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए फ़ोन नंबर – 01123382012
हेल्पलाइन नंबर – 01123381092

Important Download