Migrant Workers Registration: (State Wise) प्रवासी श्रमिक मजदूर पंजीकरण लिंक

प्रवासी श्रमिक मजदूर सहायता पंजीकरण | Migrant Workers State Wise Registration Link |  प्रवासी श्रमिक पंजीकरण पोर्टल | माइग्रेंट वर्कर्स ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन |

जो प्रवासी मजदूर लॉकडाउन के कारण 1 महीने से ज्यादा  दूसरे राज्यों में फंसे हुए थे उन प्रवासी मजदूरों को लाॅक डाउन में घर जाने की छूट दी गई है इसके लिए हर राज्य सरकार एक प्रवासी श्रमिक मजदूर पोर्टल शुरू कर रही है ताकि प्रवासी मजदूरों का रजिस्ट्रेशन किया जा सके और वह अपने घर जा सके इसी के तहत केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को कुछ गाइडलाइन जारी किए हैं। इसीलिए हम आपको उन पोर्टल के बारे में बता रहे हैं जो राज्य सरकारों ने शुरू किए हैं और प्रवासी मजदूर किस तरह से उस में रजिस्ट्रेशन कराएंगे हम आपको यह भी बताएंगे और राज्य सरकारो ने जो पोर्टल शुरू किए हैं उनके जो लिंक दिए गए हैं उनके बारे में हम आपको विस्तार से बता रहे हैं।

प्रवासी श्रमिक मजदूर पंजीकरण COVID-19 सहायता

लाॅक डाउन समाप्त होने के कुछ ही दिन रह गए हैं तो केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को यह अनुमति दी है कि वह विभिन्न राज्य में फंसे हुए अपने मजदूरों का अपने पोर्टल द्वारा डाटा जमा करें और उन लोगों का रजिस्ट्रेशन करके घर तक पहुंचाने की सुविधा दें ताकि प्रवासी मजदूर अपने घरों को सुरक्षित वापिस जा सके। प्रवासी श्रमिकों के अलावा तीर्थयात्री पर्यटक छात्र और अन्य लोगों को भी इसमें शामिल किया गया है। बहुत सी राज्य सरकारे आपको अपनी स्थिति आरोग्य सेतु एप पर दर्ज करने के लिए कह सकती हैं।

Migrant Workers Registration Highlights

योजना का नामMigrant Workers Registration (state wise)
उद्देश्यअन्य राज्य में प्रवासियों को उनके घर तक पहुँचाना
आवेदन मोडऑनलाइन
वर्गलॉकडाउन के दौरान अंतरराज्यीय यात्रा
MHA की आधिकारिक वेब साइटwww.mha.gov.in

माइग्रेंट वर्कर्स ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

जैसे कि आप जानते हैं अब तक केवल कुछ राज्यों ने अपने मजदूरों के लिए अपना पोर्टल शुरू किया है, जिसकी लिंक हम नीचे दे  रहेहै, जबकि बाकी राज्य जल्द ही अपना पोर्टल शुरु करने वाले हैं ताकि वे अपने मजदूरों औरनागरिकों को अपने राज्यों में वापस ला सकें। और जिन राज्यों ने अपना पोर्टल लिंक अभी शुरू नहीं किया है वह जल्दी अपना पोर्टल  शुरू करेंगे इसके बारे में हम आपको अपडेट करते रहेंगे।

मध्य प्रदेश में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
गुजरात में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
पंजाब में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
महाराष्ट्र में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
राजस्थान में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
हिमाचल प्रदेश में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
तमिलनाडू में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
हरियाणा में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
कर्नाटक में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
उत्तराखंड में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें यहां क्लिक करें
ओड़िशा में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
उत्तरप्रदेश  में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
बिहार   में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
पश्चिम बंगाल में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
आंध्र प्रदेश में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
अरुणाचल प्रदेश में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
केरल  में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
गोवा  में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
झारखंड में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें
तमिलनाडु में फंसे लोगों के लिए पंजीकरण लिंकयहां क्लिक करें

इसके अलावा जो राज्य रह गए हैं वह भी अपना पोर्टल शीघ्र ही उपलब्ध कराएंगे ताकि प्रवासी श्रमिक इन पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कर के सुरक्षित अपने घर वापस आ सके।

Lockdown Movement Pass

अंतरराज्यीय यात्रा प्रवासी श्रमिक पंजीकरण

यह नोटिस बुधवार को गृह मंत्रालय द्वारा जारी किया गया और राज्य को निर्देश दिया है  कि जो मजदूर विभिन्न राज्यों में फंसे हुए हैं उनको अपने घर पर पहुंचाने का सारा इंतजाम राज्य सरकार करें और राज्य सरकारे इन प्रवासी मजदूरों के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू करें जिसमें वह अपना पंजीकरण करवा कर अपने घर तक सुरक्षित पहुंच सके।

पोर्टल पर भरने के लिए आवश्यक जानकारी

अगर आप एक प्रवासी मजदूर हैं कि आप किसी दूसरे राज्य के रहने वाले हैं तो आपको पोर्टल पर भरने के लिए निम्नलिखित  जानकारी का होना बहुत जरूरी है।

  • आवेदकों का नाम
  • मोबाइल नंबर
  • अधार नंबर आपके पास है।
  • आवेदक की सेहत का स्टेटस
  • आवेदक के परिवार के सदस्य

 प्रवासी श्रमिक पंजीकरण पोर्टल ऑनलाइन

बहुत से राज्य केंद्र सरकार से लगातार इस बात का आग्रह कर रहे हैं कि उनके मजदूर जो लोक डाउन के कारण फंसे हुए हैं उन्हें घर पहुंचाने का इंतजाम केंद्र सरकार द्वारा किया जाये। प्रवासी मजदूर बहुत कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं जिनमें खाने और रहने की समस्या प्रमुख है। आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के द्वारा केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के बीच एक लंबी बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया की फंसे हुए मजदूरों को राज्य सरकारें अपने राज्य में बुलाने का प्रबंध करें और इसके साथ ही पोर्टल भी शुरू करें जिससे उनके मजदूर अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकें और घर वापसी कर सकें।

राज्य सरकारों द्वारा क्या कदम उठाए जाने चाहिए।

  • एडवाइजरी में, MHA ने कहा है कि के सभी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह निर्देश दिया जाता है कि वह अपने नोडल अधिकारियों का सलेक्शन करें ताकि फंसे हुए मजदूरों को भेज और प्राप्त कर सके।
  • अगर कोई मजदूरों का ग्रुप एक जगह से दूसरी जगह पर जा रहा है तो उस पोजीशन में राज्य सरकारों को आपस में सहमत होना पड़ेगा और उन्हें सामाजिक दूरी बनाए रखने और परिवहन का इंतजाम करना होगा।
  • लक्षणों के आधार पर अगर किसी व्यक्ति का टेस्ट करना पड़े उसके बाद उसका टेस्ट नेगेटिव आए तो उसे आगे जाने की इजाजत देनी पड़ेगी।
  • इस काम के लिए जिन बसों का उपयोग किया जाएगा उन्हें सही तरीके से सैनिटाइज किया जाना चाहिए और इसके अलावा बैठने के दौरान सोशल डिस्टेंस का भी ख्याल रखना है।
  • जो राज्य पारगमन मार्ग के अंतर्गत आते हैं, उन्हें इजाजत देनी चाहिए ताकि वे अपने घर सुरक्षित जा सकें। जब लोग सुरक्षित रूप से अपने घरों तक पहुँच जाते हैं तो स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों को इन लोगों को घर में क्यूरेनटाइन किया जाए या अपने संस्थानों में रखना होगा।