स्वनिधि योजना: SVANidhi Yojana ऑनलाइन आवेदन, स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि

SVANidhi Yojana Apply | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि ऑनलाइन आवेदन | स्वनिधि योजना आवेदन फॉर्म | SVANidhi Yojana In Hindi

वह सभी लोग जो रेहड़ी और पटरी वालों (छोटे सड़क विक्रेताओं) अपना खुद का काम शुरू करना चाहते हैं उनके लिए भारत सरकार ने स्वनिधि योजना शुरू की हैं. देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 1 जून 2020 को केंद्रीय केबिनेट की बैठक में यह योजना शुरू करने का फैसला लिया हैं. यह योजना जो प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि के नाम से भी जानी जाती हैं, इसमें इन लोगो को केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये तक का लोन दिया जायेगा. देश के सभी छोटे सड़क विक्रेता इस योजना का लाभ बड़ी आसानी से उठा पाएंगे.

SVANidhi Yojana

आपने अक्सर सड़क के किनारे रेड़ी या ठेले पर कुछ लोगो को फल-सब्जी बेचते हुए देखा होगा. सरकार ने इन्ही स्ट्रीट वेंडर के लिए SVANidhi Yojana शुरू की हैं. जिसके अंतर्गत ये लोग सरकार से 10000 रूपये का लोन ले सकेंगे. यह लोन लेने के बाद इसे 1 साल के अंदर क़िस्त में वापस भी करना होगा. जो लोग 1 साल के अंदर इस लोन को वापस कर देंगे उनके अकाउंट में सरकार द्वारा सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर ट्रान्सफर किया जायेगा. जो लोग स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें इस योजना के लिए आवेदन देना होगा. इस योजना के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को लाभ देने का प्लान हैं.

Pradhanmantri SVANidhi Yojana Highlights

योजना का नामस्वनिधि योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लॉन्च की तारीक1 जून 2020
लाभार्थीरेहड़ी पटरी वाले
 उद्देश्यलोन प्रदान करना

Aatmnirbhar Nidhi Yojana (Steet Vender ) New Update

भारत सरकार ने करीब ३.8 लाख सेवा केन्द्र (सीएससी) जगह-जगह खोले हैं उन्ही के जरिये आत्मनिर्भर निधि योजना के अंतर्गत छोटे कारोबारी जैसे रेहड़ी, पटरी आदि को 10,000 रुपये तक का कर्ज देगी. यदि सरकार की डिजिटल और ई- गवर्नेंस सेवा इकाई सीएससी ई- गवर्नेंस सविर्सिज इंडिया लिमिटेड की बुधवार को कही हुई बात पर ध्यान दिया जाये तो यह प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना पूरी तरह से आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा वित्तपोषित है. जो लोग इस योजना के तहत कर्ज लेंगे उन्हें क़र्ज़ वापस करने के लिए लगातार प्रोत्साहित किया जायेगा. और जब वह डिजिटल लेनदेन करेगा तो उसको पुरुस्कार भी दिया जाएगा. इसी के साथ-साथ छोटे कारोबारियों का पंजीकरण भी सीएससी योजना के तहत करने में मदद की जाएगी. अबतक यदि देखा जाए तो अबतक करीब 2 लाख आवेदन इस योजना के लिए दिए जा चुके हैं जिसमे से करीब 50 हज़ार कारोबारियों को कर्ज दिया जा चूका हैं.

PM SVANidhi Mobile App

भारत सरकार ने स्ट्रीट वेंडर्स के लिए केंद्र सरकार के आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय की मदद से 17 जुलाई 2020 पीएम स्वनिधि ऐप को लांच किया हैं. अब देश में जितने भी रेहड़ी और पटरी वाले, छोटे सड़क विक्रेता लोग हैं वह सभी डायरेक्ट लिंक से अपने स्मार्टफ़ोन में Svanidhi Mobile App को डाउनलोड कर सकते हैं. इस एप कि मदद से आसानी से इस योजना के लिए आवेदन दे पाएंगे. यह एप स्ट्रीट वेंडर्स की सोर्सिंग और प्रोसेसिंग करने के लिए बनाया गया हैं. इस पीएम Svanidhi ऐप की मदद से बैंकिंग संवाददाताओं (बीसी) और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) / माइक्रो- फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस (MFI) के एजेंटों जैसे LI के फील्ड अधिकारिय बहुत लाभ उठा पाएंगे.

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि का उद्देश्य

जैसा कि आप सभी लोगो को पता हैं कि देश में कोरोना महामारी की वजह से क्या हाल चल चल रहा हैं. जहाँ ऑफिस में नौकरी करने वालो कि नौकरी चली गयी हैं. वही सड़क के किनारे ठेले और रेहड़ी लगाने वाले व्यक्तियों को भी अपने काम से हाथ धोने पड़ा हैं. इन्ही सभी परेशानी को देखते हुए केंद्र सरकार ने इन लोगो की मदद करने के लिए स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना शुरू की हैं. इस योजना के तहत सभी स्ट्रीट वंडर्स को काम दौबारा शुरू करने के लिए लोन दिया जाएगा. यह योजना गरीब लोगो को सशक्त बनाने और उनकी आर्थिक स्तिथि को सुधारने में बहुत लाभदायक साबित होगी.

पीएम स्वनिधि  ऐप की विशेषताएं

  • सर्वेक्षण के आंकड़ों में विक्रेता की खोज
  • आवेदकों का ई-केवाईसी
  • ऋण आवेदनों का प्रसंस्करण
  • वास्तविक समय में निगरानी

स्वनिधि योजना में अब तक कितने लोगो को लाभ दिया गया

इस योजना के शुरू होते ही 2 जुलाई 2020 को लोन देने की प्रक्रिया शुरू हो गई हैं. और कम से कम 1.54 लाख से अधिक सड़क विक्रेताओं ने कार्यशील पूंजी ऋण के लिए राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों से आवेदन किया हैं. जिसमे से करीब 48,000 स्ट्रीट वंडर्स को पीएम स्ट्रीट वेंडर की आत्मनिर्भर निधि योजना के अंतर्गत लोन दिया जा चूका हैं.

स्वनिधि योजना के लाभ

  • स्वनिधि योजना से देश के सभी स्ट्रीट वंडर्स जैसे रेहड़ी और पटरी वाले लाभ उठा पाएंगे.
  • स्वनिधि योजना से देश के जितने भी शेहरी और ग्रामीण स्ट्रीट वंडर्स हैं वः सभी लाभ उठा पाएंगे.
  • इस योजना के तहत सीधा 10,000 रुपए का लोन लिया सकता हैं. जिसे बाद में मासिक किश्त के जरिये चुकाया जा सकता हैं.
  • इस योजना में कम से कम 50 लाख लोगो को मदद करने का प्लान हैं.
  • जो व्यक्ति इस लोन को समय पर चूका देंगे उनके बैंक में 7 फिसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर सरकार द्वारा सीधा अमाउंट ट्रान्सफर किया जायेगा.
  • SVANidhi Yojana के तहत कोई भी जुर्माना लगाने का प्रावधान नहीं हैं.
  • जैसे कि कोरोना कि वजह से लोगो कि हालत खराब हो चुकी हैं तो इस योजना की मदद से देश के सभी स्ट्रीट वंडर्स को आत्मनिर्भर बनाने कि कोशिश की जाएगी.
  • इच्छुक व्यक्ति इस योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं. और लोन होने पर बैंक से वह पूंजी ले सकते हैं.
  • इस तरीके से यह लोग आत्मनिर्भर भारत अभियान में भी अपने योगदान दे सकेंगे और अपना कारोबार भी वापस खड़ा कर पाएंगे.
  • जैसे कि यह लोन सरकर द्वारा दिया जायेगा तो आपके बैंक अकाउंट में हर महीने ३ किश्तों के जरिये इसकी पूरी पूंजी आयेगी.

स्वनिधि योजना के पात्र लाभार्थी कौन कौन है

  • नाई की दुकानें
  • जूता गांठने वाले (मोची)
  • पान की दूकानें (पनवाड़ी)
  • कपड़े धोने की दूकानें (धोबी)
  • सब्जियां बेचने वाले
  • फल बेचने वाले
  • रेडी-टू-ईट स्ट्रीट फूड
  • चाय का ठेला या खोखा लगाने वाले
  • ब्रेड, पकौड़े व अंडे बेचने वाले
  • फेरीवाले जो वस्त्र बेचते हैं
  • किताबें/स्टेशनरी लगाने वाले
  • कारीगर उत्पाद

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत देश के केवल छोटे सड़क विक्रेताओं को ही पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

स्वनिधि योजना में आवेदन कैसे करे ?

इच्छुक रेहड़ी और पटरी वाले लाभार्थी स्वनिधि योजना के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं. सबसे पहले सभी कार्यक्रमों के साथ मिल कर सभी हितधारकों और आईईसी गतिविधियों की क्षमता निर्माण के लिए वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम का पूरे देश में जून में शुभारंभ होगा. और उसके बाद जुलाई में लोन मिलना शुरू होगा.

  •  अब होम पेज से “Planning to Apply for Loan” के बटन पर क्लिक करे. अब इसमें दिए गए सभी ३ स्टेप्स को ध्यान से पढ़े और “view more” के बटन पर क्लिक करे.
  • इसके बाद “View / Download Form” के बटन पर क्लिक करे. जैसे ही आप इस बटन को दबायेंगे आपके सामने स्वनिधि योजना के फॉर्म की पीडीएफ खुल जाएगी.

  • इस pdf फॉर्म को डाउनलोड करके सभी पूछी गयी जानकारी सही ढंग से भरकर जरुरी दास्तावेज फॉर्म के साथ लगा दे.
  • इसके बाद इसको एक लिफाफे में डालकर निचे दिए गए पते के ऑफिस में जमा कर दे.

लोन देने वाले संस्थानों की सूची कैसे देखे ?

  • सबसे पहले ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये.
  • होम पेज से “view more” के बटन को दबाएँ.
  • अब “lenders लिस्ट” के आप्शन पर क्लिक करे.

  • आप्शन पर क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर बैंक कि पूरी लिस्ट खुल जाएगी.
  • अब आप अपनी मर्ज़ी से जहाँ चाहे उस बैंक पर अपना फॉर्म जमा कर सकते हैं.

अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच करें?

  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर होम पेज से “view more” के बटन पर क्लिक करे.
  • अब “vendor survey लिस्ट” बटन पर क्लिक करे.

  • अब आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म खुलेगा. जिसमे सभी पूछी गयी जानकारी सही रूप से भरेगी.
  • जानकारी भरने के बाद “सर्च” बटन दबाये और अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच कर सकते है।

पीएम स्वनिधि मोबाइल ऍप डाउनलोड कैसे करे?

  • भारत सरकार ने आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने 29 जून 2020 को http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ वेबसाइट को पहले ही लॉन्च कर दिया है। अब MoHUA ने PM Svanidhi मोबाइल ऐप लॉन्च किया है।
  • अगर आप इस एप को डाउनलोड करने चाहते हैं तोअपने एंड्राइड मोबाइल के प्ले स्टोर पर जाये.
  • अब सर्च बटन पर एप का नाम टाइप करके इनस्टॉल बटन दबाये.
  • इस तरह से आप PM Svanidhi Mobile Appबड़ी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं.

Payment Aggregator

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर होम पेज से Planning to APPLY for Loan के निचे दिए गए “view more” के बटन पर क्लिक करे.
  • यहाँ से Payment Aggregator के आप्शन पर क्लिक करे ज्सिके बाद बहुत साडी आप्शन में से भुगतान एग्रीगेटर कर सकते है।

Contact us

  • यदि इच्छुक व्यक्ति इस योजना के लिए और जानकारी लेना चाहते हैं तो ऑफिसियल वेबिस्ते पर जाकर “contact us” के बटन पर क्लिक करे.

  • आप्शन पर क्लिक करते ही योजना की कांटेक्ट डिटेल्स दिख जाएगी.

केबिनेट की बैठक में की गयी अन्य घोषणाएं

  • MSME सेक्टर के लिए इक्विटी स्कीम को कैबिनेट की मंजूरी – संकटग्रस्त छोटे और मध्यम उद्योगों को लाभ मिलेगा, साथ ही रोजगार के अपार अवसर सृजित होंगे | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि MSMEs के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के इक्विटी निवेश (Equity investment) की घोषणा की गई है।
  • 14 फसलों की एमएसपी तय – ‘जय किसान‘ के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए कैबिनेट ने अन्नदाताओं के हक में बड़े फैसले किए हैं. इनमें खरीफ की 14 फसलों के लिए लागत का कम से कम डेढ़ गुना एमएसपी देना सुनिश्चित किया गया है. साथ ही 3 लाख रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन चुकाने की अवधि भी बढ़ा दी गई है|
  • कृषि ऋण पर ब्याज छूट का लाभ अब 31 अगस्त तक मिलेगा
  • एमएसएमई में शेयर लेकर अपनी भागीदारी देगी सरकार
  • सैलून, पान की दुकान और मोची को भी मिलेगा लाभ